बैकारेट कैसे खेलें सबसे सुरक्षित है

बैकारेट कैसे खेलें सबसे सुरक्षित है

time:2021-10-22 17:17:11 म्यूचुअल फंडों का एयूएम 41% बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये पहुंचा Views:4591

रौलेट बैकारेट कैसे खेलें सबसे सुरक्षित है betway गेम,fun88 que es,lovebet 5 यूरो गुटशेन,lovebet मैं रजिस्टर करना चाहता हूँ,lovebet नियम और शर्तें,3 रील स्लॉट जैकपॉट,बैकारेट ऐप असली पैसा,बैकारेट विदेशी जुआ,बेस्ट ऑफ़ फाइव फिंगर डेथ पंच youtube,बुकमेकर रेटिंग रैंकिंग,कैसीनो लिंकन सिटी,शतरंज एओ विवो,क्रिकेट पुस्तक अर्थ,क्रिकेट कल विजेता,यूरोपीय कप खाता URL,फ़ुटबॉल सट्टेबाजी नेटवर्क रीयल-टाइम ऑड्स,जी स्पोर्ट्स हिम्मतनगर,oz . के जादूगर में खुश किसान,मैं पोकर चिप्स,जैकेट ब्लेज़र,ला लीगा शेड्यूल,लाइव क्रिकेट बेटिंग,लॉटरी खमेर,लूडो ज़ौकी,ऑनलाइन कैसीनो एजेंट,ऑनलाइन गेम टेककेन 3,लकीलैंड जैसे ऑनलाइन स्लॉट,पोकर १० हाथपी,पोकर काम,रूले नंबर जनरेटर,रमी डोमेन,रश ग्रीन फिशिंग,सेकंड में बुक हो रहे स्लॉट,खेल पजामा,तीन पट्टी सोना,नवीनतम फुटबॉल सट्टेबाजी साइट,आभासी क्रिकेट दुबई,वाइल्डज़ गेल्ड औज़हलेन,lottery का अर्थ,करीना फोटो,क्रिकेट विकेट कीपर स्टम्पिंग नियम,छोटू लॉटरी,पारी मैच लॉगिन,बरसात यार,रमी लाल,स्टेटस नरेगा, .म्यूचुअल फंडों का एयूएम 41% बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये पहुंचा

मार्च में 29,745 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी हुई, जिसके चलते कुल एसेट अंडर मैनेजमेंट फरवरी में 31.64 लाख करोड़ रुपये से घटकर मार्च में 31.43 करोड़ रुपये रह गया.
मुंबई: वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई. हालांकि, मार्च 2021 में इसमें एक फीसदी की मामूली गिरावट देखी गई.

क्रिसिल की एक रिपोर्ट में शुक्रवार को बताया गया कि ओपेन-एंडेड डेट फंडों से शुद्ध आधार पर निकासी के चलते वर्ष दर वर्ष आधार पर मार्च में एयूएम में एक फीसदी की गिरावट दर्ज की गई.

इसे भी पढ़ें: श्रीराम प्रॉपर्टीज पेश करेगी 800 करोड़ रुपये का आईपीओ, दायर की याचिका

इंडस्ट्री से मिले आंकड़ों के मुताबिक, मार्च में 29,745 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी हुई, जिसके चलते कुल एसेट अंडर मैनेजमेंट फरवरी में 31.64 लाख करोड़ रुपये से घटकर मार्च में 31.43 करोड़ रुपये रह गया.

हालांकि, इसके बावजूद पूरे वित्त वर्ष के दौरान इसमें 41 फीसदी की बढ़ोतरी हुई और कुल 2.09 लाख करोड़ रुपये का निवेश दर्ज किया गया. ओपेन-एंडेड डेट फंडों से 52,528 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी हुई, जो मार्च 2020 के बाद सबसे अधिक है.



हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

इक्विटी म्यूचुअल फंडएयूएमशेयर बाजारम्यूचुअल फंडडेट म्यूचुअल फंडक्रिसिल

ETPrime stories of the day

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.कैसा है एलएंडटी टैक्‍स एडवांटेज म्‍यूचुअल फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

सामान्‍य सिप के मामले में निवेशक सिप की अवधि में अपना कॉन्ट्रिब्‍यूशन नहीं बढ़ा सकते हैं. अगर वे इसे बढ़ाना चाहते हैं तो उन्‍हें नए सिरे से सिप शुरू करना होगा या एकमुश्त निवेश करने की जरूरत होगी.बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.नियमित आमदनी के लिए इन पांच विकल्प में निवेश कर सकते हैं सीनियर सिटीजन

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
लाइव क्रिकेट बेटिंग

सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.

casumo वेरिफ़िज़िरंग डौएर

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.

lovebet एस/पी

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.

परिमच वीपीएन

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.

बेटा भी चाहिए

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी