कल का क्रिकेट

कल का क्रिकेट

time:2021-10-22 17:36:33 मैक्रोटेक डेवलपर्स को दूसरी तिमाही में 223 करोड़ रुपये का लाभ Views:4591

जबकि इन हिंदी कल का क्रिकेट 10cric ऐप लॉगिन,betway यूगो,लियोवेगास हुइजौस,lovebet एओ विवो फूटबोल,lovebet मेरा खाता लॉगिन करें,lovebet बनाम मेलबेट,एक फुटबाल खिलाड़ी,बैकारेट क्रैकिंग विश्लेषण,बैकारेट शैडी,बेटिंग बेटफेयर क्रिकेट,कैसीनो 24 शर्त,कैसीनो रोयाले 1967,चिप्स निर्माता ऑनलाइन,क्रिकेट खेल,डीएच फुटबॉल,यूरोपीय कप अनुसूची अंक,फुटबॉल अप्रत्यक्ष फ्री किक,उत्पत्ति कैसीनो संबद्ध कार्यक्रम,एचडी फुटबॉल हाइलाइट डाउनलोड,आईपीएल सभी मैच,जैकपॉट ज्योतिका,मेरे पास लाइव लाठी कैसीनो,लाइव रूले ऑनलाइन भारत,लॉटरी टेक्सास,सबसे औपचारिक सट्टेबाजी नेटवर्क,ऑनलाइन कैसीनो कोई जमा नहीं मुक्त स्पिन,ऑनलाइन पोकर अमेरिकन,पी लॉटरी संबाद,पोकर दा डिप्रेसão,बैकारेट में टाई होने की प्रायिकता,शाही रानी बीज,रम्मी या क्लासिक,स्लॉट मशीन ए,स्लॉट आप बोनस खरीद सकते हैं,Sports365.in,टेक्सास होल्डम ब्लाइंड्स,उपलब्ध स्लॉट,यूरोप में प्रसिद्ध सट्टेबाजी कंपनियां कौन सी हैं,विश्व फुटबॉल टीम का परिचय,इलेक्ट्रॉनिक खेल app,कैसीनो के खेल gk,गीता गीता,जोकर मूवी डाउनलोड,फुटबॉल टूर्नामेंट,बेटा जा,लॉटरी इन इंडिया,स्पोर्ट्स जैकेट .मैक्रोटेक डेवलपर्स को दूसरी तिमाही में 223 करोड़ रुपये का लाभ

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) रियल एस्टेट कंपनी मैक्रोटेक डेवलपर्स लिमिटेड ने बृहस्पतिवार को बताया कि सितंबर में समाप्त तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 223.36 करोड़ रुपये रहा।

कंपनी को एक साल पहले 2020-21 की समान तिमाही में 362.58 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।

कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कुल आय दोगुनी से अधिक बढ़कर 2,201.66 करोड़ रुपये हो गई, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 988.18 करोड़ रुपये थी।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read
Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read

देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) आवास और शहरी मामलों के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने बृहस्पतिवार को कहा कि रियल एस्टेट क्षेत्र में कारोबारी सुगमता को बढ़ावा देने के तहत अगले साल मार्च तक सभी शहरों में ऑनलाइन भवन अनुमति प्रणाली होगी। फिलहाल यह सुविधा 2,500 शहरों में है। उन्होंने उद्योग मंडल सीआईआई और रियल एस्टेट सेवा कंपनी जेएलएल इंडिया द्वारा आयोजित एक सम्मेलन में कहा कि सरकार ने देश में ‘सभी के लिए आवास’ के लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना - शहरी (पीएमएवाई-यू) के तहत पहले ही 1.14 करोड़ घरों को मंजूरी दी है। मिश्रा नेफ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यापल मलिक ने दावा किया है कि उनके कार्यकाल के दौरान उनसे कहा गया था कि यदि वह ''अंबानी'' और ''आरएसएस से संबद्ध'' एक व्यक्ति की दो फाइलों को मंजूरी दें तो उन्हें रिश्वत के तौर पर 300 करोड़ रुपये मिलेंगे, लेकिन उन्होंने सौदों को रद्द कर दिया। उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके फैसले का समर्थन करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार पर समझौता करने की कोई जरूरत नहीं है। मलिक फिलहाल मेघालय के राज्यपाल हैं और केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलनइन तरीकों से आप घर बैठे कमा सकते हैं पैसा

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.अगले साल मार्च तक सभी शहरों में ऑनलाइन भवन अनुमति प्रणाली होगी: आवास सचिव

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet365

इस्लामाबाद, 21 अक्टूबर (भाषा) पाकिस्तान वित्तीय कार्रवाई कार्यबल (एफएटीएफ) की निगरानी सूची में बना रहेगा। वह तब तक इस सूची में शामिल रहेगा जब तक कि वह साबित नहीं कर देता कि जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद और जैश-ए-मोहम्मद के संस्थापक मसूद अजहर के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है जिसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक आतंकवादियों के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। वैश्विक धन शोधन-निरोधक और आतंकवादियों के वित्तपोषण पर नजर रखने वाली संस्था एफएटीएफ ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। यह निर्णय पेरिस स्थित एफएटीएफ की ‘ऑनलाइन’ बैठक के बाद आया। बैठक

असली पैसा ऑनलाइन शतरंज का कमरा

नौकरी जॉबस्पीक्स इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डिजिटल बदलाव की लहर में सूचना प्रौद्योगिकी-सॉफ्टवेयर क्षेत्र लगातार इससे बचा हुआ है.

शतरंज 4.2.3 मॉड एपीके

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.

ला पोकर टूर्नामेंट

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) व्यापारियों के संगठन कैट ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने देश में ई-वाणिज्य और खुदरा व्यापार के वर्तमान हालात पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वक्त मांगा है। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री को लिखे एक पत्र में देश के ई-कॉमर्स व्यवसाय के मौजूदा परिदृश्य में उनके हस्तक्षेप की मांग करते हुए दावा किया कि ‘‘प्रमुख वैश्विक ई-वाणिज्य कंपनियां 2016 से देश के कानूनों और नियमों का उल्लंघन कर रही हैं।’’ कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया और महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा, ‘‘ऐसा लगता है

कैसीनो 1995 माता-पिता गाइड

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) सेबी ने बृहस्पतिवार को कमोडिटी डेरिवेटिव ब्रोकर के रूप में पंजीकरण के लिए इंवेस्टस्मार्ट कमोडिटीज लिमिटेड के आवेदन को खारिज कर दिया। सेबी ने कहा कि आवेदन ‘‘उचित’’ मानदंडों को पूरा करने में विफल रहा, क्योंकि उसने अपने ग्राहकों को बंद हो चुके नेशनल स्पॉट एक्सचेंज लिमिटेड (एनएसईएल) पर अनधिकृत युग्मित सौदों में कारोबार की सुविधा दी। सेबी ने कहा कि इंवेस्टस्मार्ट कमोडिटीज ने युग्मित अनुबंधों के लिए एक मंच मुहैया करके अपने ग्राहकों को एक ऐसे उत्पाद के कारोबार में शामिल किया, जिसे नियामक की मंजूरी नहीं मिली थी, जिससे उसकी पंजीकृत ब्रोकर के

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी